परकाया प्रवेश हिंदी पुस्तक

परकाया प्रवेश

परकाया प्रवेश कैसे हो सकता है? ''

परकाया प्रवेश '' शब्द हमारी रोज की बोल- चाल में कम प्रयोग होता है, इसलिए इसमें कुछ विचिन्नता और अजनवीपन- सा प्रतीत होता है ।। परंतु ध्यानपूर्वक देखने पर इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है ।। यह प्राणियों का स्वाभाविक धर्म है ।। थोड़ी- बहुत मात्रा में सभी प्राणी नित्य के जीवन में इसका प्रयोग करते हैं, जिनमें यह शक्ति अधिक होती है, वह उससे अधिक लाभ उठा लेते हैं ।। विशेष अभ्यास के साथ प्रचुर परिमाण में इस कला को सीख लेने के उपरांत ही बड़े- बड़े कठिन कार्यों में ऐसी सफलता प्राप्त की जा सकती है, जिसे अलौकिक और अद्भुत कहा जा सके ।।

'' परकाया '' शब्द का अर्थ पराया शरीर है ।। पर- काया प्रवेश अर्थात दूसरे के शरीर में प्रवेश करना ।। यहाँ यह संदेह उत्पन्न होता है कि दूसरे के शरीर में भला किस प्रकार प्रवेश किया जा सकता है? 
और जानणे के लिये बुक डाऊनलोड करे!


डाउनलोड करिये हिंदी पुस्तक
"परकाया प्रवेश
Free Download Hindi PDF Book
"Parkaya Pravesh"


इसे डाउनलोड करणे के लिये नीचे दिये गये बटन पर क्लीक करे




कमेंट करके हमे जरूर बताये आपको हमारा प्रयास कैसा लगा,
आपको अगर किसी PDF पुस्तक की जरुरत हो,कमेंट के माध्यम से हमे बताये.




हमारी वेबसाइट वैदिक संस्कृतीके बारे मे अपने दोस्तो को जरूर बताये !

2 comments

Click here for comments
30 September 2017 at 11:18 ×

I tried downloading it but couldn't! Some permissions weren't given.

Reply
avatar