एकनाथ महाराज विरचित- रुक्मिणी स्वयंवर (मराठी)

एकनाथ महाराज विरचित रुक्मिणी स्वयंवर

लड़का-लड़की के विवाह में यदि अड़चन आ रही है, सबसे पहले श्री एकनाथ महाराज द्वारा रचित श्री रूक्मिणी स्वयंवर नामक ग्रंथ बाजार से खरीदकर ले आएं. उसके बाद गणेशजी की मूर्ति के सामने प्रथम दिन संकल्प करें. संकल्प में समय, स्थान, नाम एंव गोत्र आदि के साथ ही पूजन देवता के नाम, पूजन विधि और कामना आदि की चर्चा अवश्य करें.

डाउनलोड करिये एकनाथ महाराज विरचित
"रुक्मिणी स्वयंवर"
| 

Free Download "Rukmini Swayamvar" In Marathi

.
इसे डाउनलोड करणे के लिये नीचे दिये गये बटन पर क्लीक करे




कमेंट करके हमे जरूर बताये आपको हमारा प्रयास कैसा लगा,
आपको अगर किसी PDF पुस्तक की जरुरत हो, कमेंट के माध्यम से हमे बताये




हमारी वेबसाइट के बारे मे अपने दोस्तो को जरूर बताये !

3 comments

Click here for comments
Kavyanjali
admin
13 September 2016 at 09:10 ×

रुक्मिणी स्वयंवर या ग्रंथाचे पारायण केल्याने विवाह लवकर होण्यास मदत होते आणि सुस्वरूप,
अनुरूप पती मिळतो असा अनेकांचा अनुभव आहे.

Reply
avatar
Anonymous
admin
18 December 2016 at 20:11 ×

Rukmini Swayamvar hyache parayan kase karave.. krupaya mala margadarshan kara.

Reply
avatar
Anonymous
admin
19 December 2016 at 20:02 ×

रुक्मिणी स्वयंवर या ग्रंथाचे पारायण कसे करायचे? कृपया मला माग॔दशन करा.

Reply
avatar