मनुस्मृति हिंदी में डाउनलोड करे | Download Manusmriti IN Hindi PDF

मनुस्मृति हिंदी में डाउनलोड करे | Download Manusmriti IN Hindi PDF

भारत में वेदों के उपरान्त सर्वाधिक मान्यता और प्रचलन मनुस्मृतिका ही है। इसमें चारों वर्णों, चारों आश्रमों, सोलह संस्कारों तथा सृष्टि उत्पत्ति के अतिरिक्त राज्य की व्यवस्था, राजा के कर्तव्य, भांति-भांति के विवादों, सेना का प्रबन्ध आदि उन सभी विषयों पर परामर्श दिया गया है जो कि मानव मात्र के जीवन में घटित होने सम्भव है यह सब धर्म-व्यवस्था वेद पर आधारित है। मनु महाराज के जीवन और उनके रचनाकाल के विषय में इतिहास-पुराण स्पष्ट नहीं हैं। तथापि सभी एक स्वर से स्वीकार करते हैं कि मनु आदिपुरुष थे और उनका यह शास्त्र आदिःशास्त्र है। क्योंकि मनु की समस्त मान्यताएँ सत्य होने के साथ-साथ देश, काल तथा जाति बन्धनों से रहित हैं।

डाउनलोड करिये "मनुस्मृती" का हिंदी पीडीएफ वर्जन |
Free Download "Manu Smriti" In Hindi PDF Version

इसे डाउनलोड करणे के लिये नीचे दिये गये बटन पर क्लीक करे
हमारी वेबसाइट के बारे मे अपने दोस्तो को जरूर बताये !

18 comments

Click here for comments
Ruchika
admin
30 July 2016 at 18:27 ×

सभी PDF बुक्स एक जगह फ्री मै उपलब्ध करणे के लिये
अनेकानेक धन्यवाद.

Reply
avatar
4 August 2016 at 16:47 ×

मनुस्मृति को जीवन का आधार बनाकर जीवन निर्वाह करना अति सरल और सुगम होगा।

Reply
avatar
Nikita
admin
7 August 2016 at 09:08 ×

Manu ki kahi anek baatein aaj bhi lagu hoti hai....

Reply
avatar
7 August 2016 at 09:12 ×

धन्यवाद ममताजी,
नवनविन सांस्कृतिक पीडीएफ बुक्स के लिए, हमारे वेबसाइट से हमेशा जुडी रहिये,और कमेंट करती रहिये. अपने दोस्तो को हमारे साइट के बारे में बतायें!

Reply
avatar
24 September 2016 at 17:33 ×

Manu smrti kanoon ka sabdakosh hai.Vishva ka prathama jyan bhandar .

Reply
avatar
7 April 2017 at 18:45 ×

kya yah asli prati hai manusmriti ki ??
kripya mere sawaal ko anyatha na len lakin kisi ne mujhe yah bataya tha ki manusmriti ki kai bhraamak pratiyan bhi hain bazaar main

Reply
avatar
14 September 2017 at 10:40 ×

manu simriti ke adhyay 5 slok 35 ki byakhya kar samjhane ka paryas kare

Reply
avatar
Anonymous
admin
17 November 2017 at 03:08 ×

आपका प्रयास अति प्रसंसनीय है
मैं व्यक्तिगत रूप से आपका आभारी हूँ।
धन्यवाद

Reply
avatar
11 January 2018 at 22:23 ×

File is password protected.. Couldn't open!

Reply
avatar
hero
admin
2 May 2018 at 14:40 ×

बहुत बहुत धन्यवाद

Reply
avatar
20 August 2018 at 11:47 ×

सभी शास्त्र उपलब्ध कराते रहे। लेकिन शुद्धता का विशेष ध्यान रखें। किसी प्रकार की काट छांट न करें।
धन्यवाद

Reply
avatar
30 October 2018 at 21:04 ×

Ye sari books share Karen ke lit BAHUT aabhar

Reply
avatar