खण्डन-खण्ड-खाद्य ग्रंथ- श्रीहर्ष

श्रीहर्ष 12वीं सदी के संस्कृत के  प्रसिद्ध कवि। वे बनारस एवं कन्नौज के गहड़वाल शासकों - विजयचन्द्र एवं जयचन्द्र की राजसभा को सुशोभित करत...
Read More

योग वशिष्ठ ग्रन्थ - ऋषि वाल्मीकि

गीता में स्वयं भगवान मनुष्य को उपदेश देते हैं जबकि ‘योग वासिष्ठ’ में नर (गुरु वसिष्ठ)  नारायण (श्रीराम)  को उपदेश देते हैं।  ...
Read More

ऐतरेय उपनिषद

ऐतरेय उपनिषद  एक शुक्ल ऋग्वेदीय  उपनिषद  है। ऋग्वेदीय  ऐतरेय  आरण्यक के अन्तर्गत द्वितीय आरण्यक के अध्याय 4, 5 और 6. का नाम ऐतरेयोपनिषद्...
Read More

मानव जीवन का लक्ष्य

“भगवानने कहा है”- “माया बडी दुस्तर है”, इस माया से कोई भी सहज पार नही हो सकता, परंतु जो मेरी शरण मे आ जाता है, वह व्यक्ती इस माया से तर ...
Read More